ये दिल हैं मुश्किल / मैं लिखता नहीं हूँ / छलांग / शायर के अफसाने / दूर चले / शिव की खोज / गली / सर्द ये मौसम हैं / कभी कभी-2 / कभी कभी / मेरे घर आना तुम / शादी की बात - २ / धुप / क्या दिल्ली क्या लाहौर / बड़ा हो गया हूँ / भारत के वीर / तुम्हे / अंतिम सवांद / बाबु फिरंगी / प्रोटोकॉल / इश्क / कसम / चाँद के साथ / शब्दों का जाल / तुने देखा होता / वियोग रस / हंगामा / साली की सगाई / राखी के धागे / संसद / अरमान मेरे / कवितायेँ मेरी पढ़ती हो / रात का दर्द / भूख / बूढी माँ / जिनके खयालो से / इश्क होने लगा है / रंगरेज़ पिया / तुम / मेरी कविताये यु न पढ़ा करो / ट्रेफिक जाम / तेरा ख्याल / लोकतंत्र का नारा / मेरे पाँव / सड़के / वो शाम / शादी की बात / रेत का फूल / वो कचरा बीनता है / भीगी सी याद / ख़ामोशी / गुमनाम शाम / कवि की व्यथा / कभी मिल गए तो / दीवाने / माटी / अग्निपथ / गौरिया / लफंगा सा एक परिंदा / भूतकाल का बंदी / इमोशनल अत्याचार / तेरी दीवानी / नीम का पेड़ / last words / परवाना / लोरी / आरज़ू / प्रेम कविता / रिश्ते / नया शहर / किनारा / एक सपना / ख्वाहिश / काश / क्या कह रहा हु मैं / future song / naqab / duriya / sharabi / Zinda / meri zindagi / moksha / ranbhoomi / when i was old / you n me / my gloomy sunday / the little bird / khanabadosh / voice of failure / i m not smoker

Friday, May 04, 2012

साली की सगाई

साली ने पुछा दीदी से 
मेरी सगाई और जीजा नहीं आये 
कहते थे आधी घरवाली 
क्या मेरे वियोग के दुःख से नहीं आये 
कहना उनसे मैं थी रूठी 
अब मुझको मनाने फ़िर से ना आये 
मेरे प्रियतम भी दामाद बने  
अब पहले सा ना अपना रुबाब दिखाए 

आते वो भी साथ
मगर हालत कुछ ऐसे बन गए 
आना पड़ा मुझे अकेला
वो अपनी साली की सगाई में नहीं आये 
दीदी बोली अपनी व्यथा 
मुझको भी बड़े शहर में अकेले छोड़ गए 
क्या कहू मैं तुमसे बहना
तुम्हारे जीजा तो है विदेश गए 

1 comment:

Sweta said...

I dedicate your poem to my loving Husband :P