About Me

I write poems - I m going towards me, I write stories - किस्से ओमी भैय्या के, I write randomly - squander with me

Tuesday, March 01, 2011

शादी की बात

एक दिन सुबह माता ने फ़ोन घुमाया
और लड़की देखने का फरमान सुनाया
हम तो अभी उठे है नहाने का प्लान बनाया है
और उसके बाद हमे अभी ऑफिस भी जाना है
जो उनको समझाया तो बोली वहा भी चले जाना
उससे मिलो पहले जिससे तुम्हे है मिलवाना
जमाना अब नया है मिलने का तरीका भी नया
घर में चाय नहीं किसी कॉफ़ी शॉप में ही बुला लिया
मेनू को देखकर वो उसमे जो थेसिस करने लगी
हमने उन्हें याद दिलाया ये पहली मुलाक़ात है अपनी
अभी तुम पचास रुपये ही क्वालीफाई कर पाई हो
जो महंगा है खाना तो खर्च करो जो अपने पैसे लाई हो
हर मुलाक़ात के बाद तुम्हारा बजेट बढ़ाएंगे
MBA किया है कभी तो दिमाग लगायेंगे

खाने का नाम सुनकर वो बोली
अभी बना लेती हु चाय और मैग्गी
कुछ दिन उसपर काम चलाना होगा
कभी मेरी तो कभी तुम्हारी माँ को गेस्ट बनाना होगा
होता काम बहुत है शुक्रवार तक
मूवी हम शनिवार को ही जायेंगे
तुम्हारे कार्ड में थोड़ी सी शापिंग
और वीकेंड खाना बाहर ही खायेंगे

गृहस्थ जीवन का ऐसा सुन्दर सपना
हम दोनो ने जो मिल जुल के देखा
एक कॉफ़ी में ही बात जम गयी
और पिज्जा खाने की रकम बच गयी
आमंत्रण के नाम पर
फेसबुक में एक इवेंट बना दिया
और शादी की जगह
फेसबुक का स्टेटस बदल दिया
अब हम जीवन जन्मान्तर के साथी है
पांच दिन ऑफिस के और दो दिन अपने खातिर है

8 comments:

Sweta said...

This is how people meet now days to select their life partner...
but first impression is last impression Omi ji... first time kharche me kanjoosi maat karo ;)

good try :)

subtlescribbler said...

haha...wonderfully penned!
yes, this is the way things move in todays world...ab aap ko bhi aise hi kaam chalana hoga :P

itni achi poem...hum to aapke follower hogaye ab se :))

sarah

ओमी said...

thanks both of u :)

ashwin said...

like it...

samir jagtap said...

dil ki baat kalam pe le aaye op bhaiya :)

main_sachchu_nadan said...

Bhai, ekdam todu .. majaa aa gaya :-)

Ravi Chandrakar said...

I like your posts very much sir ji.......
Ek suggession hai.......
Apke blog ka address.....'opwrite' nahi balki 'oprocks' hona chahiye.......

ओमी said...

Thanks a lot Ashwin, Samir, Sachin and Ravi..
Hope I will keep posting and you keep reading :)